गुण व उपयोग: गुलाब के शर्बत के सेवन से प्यास की अधिकता, अन्तर्दाह, थकावट, ग्लानि, अवसाद, भ्रम, चित्त की अस्थिरता, पेशाब की जलन, मूत्रकृच्छ, आँखें की जलन व सुर्खी आदि विकारों में लाभ मिलता है।

मात्रा व अनुपान: 20 से 50 ग्राम, दिन में 2 से 3 बार पानी के साथ।

Write a review

Your Name:

Your Review:

Note: HTML is not translated!

Rating: Bad Good

Enter the code in the box below:

Custom Tab Here