गुण व उपयोग: बेल का शर्बत हृदय का बल देने वाला व रस-रक्तादि धातुवर्द्धक है। इसके सेवन से अतिसार, रक्तातिसार, संग्रणी, रक्तप्रदर, कब्ज, मानसिक संताप, आमदोष, खूनी बवासीर, अवसाद, भ्रम, मुर्च्छा व थकावट को नष्ट करता है।

मात्रा व अनुपान: 20 से 30 ग्राम, आवश्यकतानुसार दिन में 2 - 3 बार पानी मिलाकर।

Write a review

Your Name:

Your Review:

Note: HTML is not translated!

Rating: Bad Good

Enter the code in the box below:

Custom Tab Here