गुण व उपयोग: उन्नाव के शर्बत के सेवन से क्षय, खाँसी में कफ के साथ खून आना, रक्तपित्त, यौवन पिडिकायें, मुहांसे, पित्तविकार आदि में उत्तम लाभ मिलता है।

मात्रा व अनुपान: 20 से 30 ग्राम, दिन में 2 बार, बराबर पानी के साथ।

Write a review

Your Name:

Your Review:

Note: HTML is not translated!

Rating: Bad Good

Enter the code in the box below:

Custom Tab Here